डॉक्टर्स डे : श्री महंत इंदिरेश अस्पताल (Mahant Indiresh Hospital) में उत्तराखंड के प्रथम स्पेशलिस्ट स्टोमा केयर क्लीनिक का आगाज

डॉक्टर्स डे : श्री महंत इंदिरेश अस्पताल (Mahant Indiresh Hospital) में उत्तराखंड के प्रथम स्पेशलिस्ट स्टोमा केयर क्लीनिक का आगाज

देहरादून/लोक संस्कृति

डॉक्टर्स डे पर श्री महंत इंदिरेश अस्पताल ने उत्तराखंड का पहला स्पेशलिस्ट स्टोमा केयर क्लिनिक शुरू किया। डॉक्टर्स डे पर, श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में एक स्पेशलिस्ट स्टोमा केयर क्लिनिक का उद्घाटन किया गया, जिसका उद्देश्य मूत्राशय और मल मार्ग स्थायी स्टोमा वाले रोगियों को पूर्ण देखभाल और समर्थन प्रदान करना है।

अस्पताल के अध्यक्ष श्री देवेंद्र दास जी महाराज ने अपनी खुशी व्यक्त की और रोगियों के कल्याण के प्रति अपनी निरंतर प्रतिबद्धता को मजबूत किया।

क्लिनिक का उद्घाटन एसजीआरआर मेडिकल कॉलेज के प्रमुख प्रो. आर के वर्मा और मुख्य चिकित्सा प्रबंधक प्रो. प्रेरक मित्तल द्वारा किया गया।

डॉ. अजीत तिवारी ने स्टोमा क्लिनिक स्थापित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई।

कैंसर सर्जरी विभाग के प्रमुख डॉ. पंकज गर्ग ने बताया कि स्टोमा एक सर्जिकल प्रक्रिया है, जिसमें पेट के ऊपरी भाग पर एक छोटे से रास्ते का निर्माण किया जाता है, जिससे मल या मूत्र का धारा शरीर के बाहर आ सके। यह स्पेशलिस्ट स्टोमा केयर क्लिनिक उत्तराखंड में पहली बार स्थापित की गई है और इसके द्वारा मल मार्ग या मूत्राशय स्थायी स्टोमा वाले रोगियों को विशेष देखभाल और सहायता प्रदान की जाएगी।

क्लिनिक पर दी जाने वाली सेवाएं में स्टोमा शिक्षा, प्राथमिक ऑपरेशन संबंधी सलाह, सर्जरी के बाद की देखभाल, स्टोमा उपकरण स्थापित करना, और तकनीकी सहायता शामिल हैं, जिससे रोगियों की व्यापक देखभाल और समर्थन सुनिश्चित किया जायेगा।

स्टोमा क्लिनिक का कार्यभार स्टोमा विशेषज्ञ मिस सितारा को सौंपा जाएगा। उन्होंने कोलोप्लास्ट अकादमी का आभार व्यक्त किया जिसने इस क्लिनिक की स्थापना की। डॉ. अजीत ने इसके संबंध में कहा, स्थायी स्टोमा के साथ जीना एक व्यक्ति की जीवन की गुणवत्ता पर बहुत प्रभाव डालता है, जिससे शारीरिक असहजता और भावनात्मक कष्ट होता है। हम इस स्टोमा क्लिनिक के माध्यम से उन्हें आत्मविश्वास प्राप्त करने, पूर्णतः जीने और कुशलता से अच्छी तरह स्वास्थ्य का आनंद उठाने में सहायता करना चाहते हैं।

उदघाटन के समय मौजूद अहम व्यक्तियों में डॉ. अजय पंडिता, डॉ. गौरव रतुरी, डॉ. रचित आहुजा, भूपेंद्र रतुड़ी, मानवेंद्र, सिमरन अग्रवाल और संतोष शामिल थे।

श्री महंत इंदिरेश अस्पताल में स्टोमा केयर क्लिनिक की स्थापना इंदिरेश अस्पताल की प्रतिबद्धता को प्रकट करती है।

मरीज़ का हाल जानने श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल पहुंचे भगत दा

पूर्व राज्यपाल महाराष्ट्र एवम् पूर्व मुख्यमंत्री उत्तराखण्ड भगत सिंह कोश्यारी श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल में भर्ती मरीज़ वीर सिंह का हाल जानने के लिए पहुंचे। उन्होंने आईसीयू में भर्ती मरीज़ का हाल जाना व उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की।

वरिष्ठ छाती रोग विशेषज्ञ डाॅ जगदीश रावत की देखरेख में मरीज़ का उपचार चल रहा है। अब उनका स्वास्थ्य पहले से बेहतर है। भगत दा ने मरीज के साथ करीब 10 मिनट बातचीत की व उनके परिजनों से भी हालचाल जाना।

भगत दा ने श्री महंत इन्दिरेश अस्पताल की सेवाओं की सराहना करते हुए कहा कि अस्पताल की प्रगति को देखकर बड़ी प्रसन्नता होती है। उनके देखते देखते अस्पताल का विशाल स्वरूप व बड़ी ख्याति अर्जित कर चुका है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *