पीएमजीएसवाई के अंतर्गत सड़कों के निर्माण में उत्तराखंड देश में नंबर वन : गणेश जोशी

पीएमजीएसवाई के अंतर्गत सड़कों के निर्माण में उत्तराखंड देश में नंबर वन : गणेश जोशी

  • कैंप कार्यालय में ग्राम्य विकास विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षा बैठक कर मंत्री गणेश जोशी ने ली योजनाओं की जानकारी
  • मंत्री बोले – हाउस ऑफ हिमालय की ब्रांडिंग मार्केटिंग और पैकेजिंग पर दिया जाए विशेष ध्यान

देहरादून/लोक संस्कृति

प्रदेश के ग्राम्य में विकास मंत्री गणेश जोशी ने अपने शासकीय कार्यालय में आज ग्राम्य विकास विभाग के उच्च अधिकारियों के साथ विभागीय समीक्षा बैठक कर योजनाओं की प्रगति की विस्तार से जानकारी ली।

विभागीय मंत्री गणेश जोशी ने योजनाओं के क्रियान्वयन हेतु अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। ग्राम्य विकास मंत्री गणेश जोशी ने केंद्र एवं राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र लाभार्थी तक सुनिश्चित करने के अधिकारियों को निर्देशित किया। बैठक के दौरान मंत्री गणेश जोशी ने उत्तराखण्ड राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत कार्यरत कर्मचारियों के वेतन वृद्धि में विसंगतियों को शीघ्र निराकरण के अधिकारियों को निर्देश दिए तथा अति शीघ्र उत्तराखण्ड राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन जिला स्तर तथा ब्लॉक स्तर के कर्मचारियों के उचित मानदेय तथा शीघ्र जिओ जारी करने के भी निर्देश दिए।

ग्राम्य विकास मंत्री गणेश जोशी लखपति दीदी योजना के बारे में भी जानकारी प्राप्त की। अधिकारियों द्वारा बताया गया कि चार धाम यात्रा रूट पर एनआरएलएम के 122 आउटलेट लगाए गए हैं। मंत्री ने आदिकैलाश, कैंची धाम भी स्टॉल लगाने के अधिकारियों को निर्देश दिए। मंत्री ने अधिकारियों से पीएमजीएसवाई के सड़कों के निर्माण की भी जानकारी ली। मंत्री ने बताया कि प्रदेश के 104 सड़को के निर्माण के लिए पीएमजीएसवाई के अंतर्गत सड़कों के निर्माण से संबंधित सभी की टेंडरिंग का कार्य पूर्ण किया जा चुका है ओर शीघ्र ही उनकी स्वीकृति जारी हो जाएगी। उन्होंने कहा पीएमजीएसवाई में सड़कों के निर्माण में उत्तराखंड देश में नंबर वन है। विभागीय मंत्री ने हाउस आफ हिमालय के संबंध में भी अधिकारियों को उसकी ब्रांडिंग मार्केटिंग और पैकेजिंग पर विशेष ध्यान देने के भी निर्देश दिए।

इस अवसर पर सचिव ग्राम्य विकास राधिका झा, अपर सचिव मनुज गोयल सहित विभागीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *