बद्रीनाथ मास्टर प्लान (badrinath master plan) के अन्तर्गत संचालित पुनर्निर्माण कार्यों का मुख्य सचिव संधू ने लिया जायजा

बद्रीनाथ मास्टर प्लान (badrinath master plan) के अन्तर्गत संचालित पुनर्निर्माण कार्यों का मुख्य सचिव संधू ने लिया जायजा

चमोली/लोक संस्कृति

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की महत्वाकांक्षी परियोजना बद्रीनाथ मास्टर प्लान के अन्तर्गत संचालित पुनर्निर्माण कार्यों का जायजा लेने शनिवार को मुख्य सचिव डॉ. सुखबीर सिंह संधू बद्रीनाथ पहुंचे। उन्होंने कार्यदायी संस्थाओं को निर्देशित किया कि युद्ध स्तर पर कार्य करते हुए निर्धारित समय से पहले मास्टर प्लान के कार्याे को पूर्ण करना सुनिश्चित करें।

इस दौरान मुख्य सचिव ने लेक फ्रंट, रिवर फ्रंट डेवलपमेंट, मंदिर का सौन्दर्यीकरण, अराइवल प्लाजा, वन-वे लूप रोड, बीआरओ बाईपास, अन्तरराष्ट्रीय बस अड्डा और अस्पताल विस्तारीकरण कार्यों का निरीक्षण किया। उन्होंने कहा कि मैनुअल कार्याे में अतिरिक्त मजदूर लगाए जाए। रिवर फ्रंट डेवलपमेंट कार्याे में तेजी लाते हुए मानसून के लिए अभी से प्लान तैयार करें।उन्होंने सभी निर्माणदायी संस्थाओं को बेहतर तालमेल के साथ कार्य करते हुए इस महत्वपूर्ण कार्य को गुणवत्ता के साथ निर्धारित समय से पहले पूरा करने के निर्देश दिए। मुख्य सचिव ने कहा कि निर्माण कार्याे की वजह से बदरीनाथ धाम में दर्शन करने आ रहे तीर्थ यात्रियों को कोई असुविधा न हो। इसका भी विशेष ध्यान रखा जाए।
जिलाधिकारी हिमांशु खुराना ने मुख्य सचिव को बद्रीनाथ में संचालित पुनर्निर्माण कार्यों के बारे में विस्तार से अवगत कराया।

इस दौरान मुख्य सचिव ने भगवान बदरीनाथ के दर्शन व पूजा-अर्चना करते हुए प्रदेश की खुशहाली के लिए प्रार्थना की और बदरीनाथ में यात्रा व्यवस्थाओं का जायजा भी लिया। बीकेटीसी के अध्यक्ष अजेन्द्र अजय, उपाध्यक्ष किशोर पंवार ने मुख्य सचिव को अंग वस्त्र, तुलसी माला एवं प्रसाद भेंट किया।
निरीक्षण के दौरान पुलिस अधीक्षक प्रमेंद्र डोबाल, एडीएम डा.अभिषेक त्रिपाठी, यात्रा मजिस्ट्रेट युक्ता मिश्रा, अधीक्षण अभियंता लोनिवि राजेश शर्मा, पीआईयू के अधिशासी अभियंता विपुल सैनी, गावर कंपनी के प्रोजेक्ट डारेक्टर पीएल सोनी, अनिरुद्ध काला, ईओ सुनील पुरोहित सहित निर्माणदायी और कार्यदायी संस्थाओं के अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *