एनडीए संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी को चुना गया नेता, शपथ ग्रहण की तैयारी

एनडीए संसदीय दल की बैठक में पीएम मोदी को चुना गया नेता, शपथ ग्रहण की तैयारी

प्रधानमंत्री ने की नायडू और नीतीश कुमार की सराहना

लोक संस्कृति

लोकसभा चुनाव नतीजों के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एनडीए घटक दलों पर कुछ ज्यादा ही निर्भर हो गए हैं। शुक्रवार को राजधानी दिल्ली के पुरानी संसद के सेंट्रल हॉल में नेशनल डेमोक्रेटिक अलायंस (एनडीए) की संसदीय दल की बैठक हुई।

इस बैठक में नरेंद्र मोदी लोकसभा के नेता, भाजपा के नेता और एनडीए संसदीय दल के नेता के रूप में चुन लिए गए हैं। इसके बाद प्रधानमंत्री भाजपा और एनडीए के नवनिर्वाचित सदस्यों को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने चंद्रबाबू नायडू और नीतीश कुमार की तारीफ की है।

चंद्रबाबू नायडू और नीतीश कुमार को लेकर नरेंद्र मोदी ने कहा, आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू रहे हो या फिर बिहार में नीतीश कुमार हो। हम सबके केंद्र में गरीब कल्याण रहा है। नीतीश कुमार ने बिहार के लिए भरपूर सेवा की।

सभी का आभार जताते हुए उन्होंने कहा मैं आप सबका हृदय से बहुत आभार व्यक्त करता हूं। जो साथी विजयी होकर आए हैं वे सभी अभिनंदन के अधिकारी हैं। मेरा सौभाग्य है कि एनडीए संसदीय दल के नेता रूप में आप सबने सर्वसम्मिति से चुनकर मुझे एक नया दायित्व दिया है इसके लिए मैं आपका आभारी हूं।

उन्होंने कहा, हम सबके बीच विश्वास का सेतु मजबूत है, ये अटूट रिश्ता विश्वास की मजबूत धरातल पर है और ये सबसे बड़ी पूंजी होता है ये पल मेरे लिए भावुक करने वाले भी हैं आप सबका जितना धन्यवाद करूं उतना कम है। बैठक में एनडीए के सभी 293 सांसद, राज्यसभा सांसद और सभी राज्यों के मुख्यमंत्री और डिप्टी सीएम मौजूद थे।

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्‌डा ने स्वागत भाषण दिया। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने प्रधानमंत्री पद के लिए नरेंद्र मोदी के नाम का प्रस्ताव रखा।

अमित शाह ने इसका समर्थन किया और नितिन गडकरी ने अनुमोदन किया। जेडीएस अध्यक्ष कुमारस्वामी ने प्रस्ताव का समर्थन किया। इसके बाद टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू ने कहा- हम सभी को बधाई देते हैं। मैंने चुनाव प्रचार के दौरान देखा है कि 3 महीने तक पीएम ने कभी आराम नहीं किया। उन्होंने उसी भावना के साथ शुरुआत की और उसी भावना के साथ खत्म किया।

आंध्र में हमने 3 जनसभाएं और 1 बड़ी रैली की और इसने चुनाव जीतने में बहुत बड़ा अंतर पैदा किया। जेडीयू प्रमुख और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा- मैं मोदीजी के नाम का समर्थन करता हूं। मैं तो चाहता था कि वो आज ही शपथ लें। यह बहुत खुशी की बात है कि 10 साल से पीएम हैं, अब फिर पीएम होने जा रहे हैं। इन्होंने देश की सेवा की, जो कुछ भी बचा है, उसे अब पूरा कर देंगे। अगली बार जब आप आइएगा तो जो कुछ इधर उधर के लोग जो जीत गया है न, वो कोई नहीं जीतेगा।

संसद के सेंट्रल हॉल में एनडीए की मीटिंग खत्म होने के बाद गठबंधन के नेता आज ही सरकार बनाने का दावा पेश करेंगे।

मोदी 9 जून को शाम 6 बजे राष्ट्रपति भवन में प्रधानमंत्री पद की तीसरी बार शपथ ले सकते हैं। खबर है कि मोदी के साथ पूरा मंत्रिमंडल शपथ ले सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *