मोदी ने दुर्गम, पिछड़े और सीमावर्ती राज्य को देश की मुख्यधारा से जोड़ा: महेंद्र भट्ट

मोदी ने दुर्गम, पिछड़े और सीमावर्ती राज्य को देश की मुख्यधारा से जोड़ा: महेंद्र भट्ट

  • भट्ट ने पहले संसदीय संबोधन की शुरुआत राज्य आंदोलन एवं सीमा पर शहीदों को श्रद्धांजलि से की
  • मोदी ने राज्य को दिया विकास , हमने पांच कमल: भट्ट

देहरादून/लोक संस्कृति

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने बतौर सांसद, राज्यसभा के अपने पहले संबोधन की शुरुआत राज्य निर्माण आंदोलन और देश की सीमाओं में शहादत देने वालों को श्रद्धांजलि के साथ की है। इस दौरान उन्होंने कहा, मोदी ने राज्य को विकास दिया और हमने उन्हें पांच कमल भेंट स्वरूप लोकसभा चुनाव में दिए।

राष्ट्रपति के अभिभाषण पर जारी धन्यवाद प्रस्ताव पर बोलते हुए भट्ट ने सीमांत क्षेत्र के उच्च सदन में पहुंचाने के लिए पीएम मोदी समेत समस्त पार्टी नेतृत्व का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा, मैं उस देवभूमि उत्तराखंड से आता हूं जो बाबा बद्री केदार और मां गंगा यमुना की धरती है।

इससे पूर्व उन्होंने सर्वप्रथम राज्य निर्माण आंदोलन और देश की रक्षा के लिए शहीद होने वाली पुण्यात्माओं को श्रद्धांजलि दी। साथ ही स्पष्ट किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में जिस तरह देशवासियों के जीवन में बदलाव और खुशहाली आने के साथ विकास के काम हुए हैं उसे उत्तराखंड भी अछूता नहीं रहा है। अब तक के अनुभव बताते हैं कि मोदी जी का जन्म कहीं भी हुआ हो लेकिन उनका हृदय उत्तराखंड में ही बसता है। यही वजह है कि 10 सालों में राज्य के चौमुखी विकास को देखकर, यहां की जनता ने पांचों लोकसभा सीटों पर कमल खिलाकर मोदी जी का आभार व्यक्त किया है।

उन्होंने कहा, मोदी ने उत्तराखंड जैसे भौगोलिक रूप से दुर्गम, अति पिछड़ा और विदेशी सीमाओं से लगे राज्य को देश की मुख्य धारा से जोड़ने का काम किया है। मोदी 1.0 और मोदी 2.0 के कामों की बदौलत मोदी 3.0 में राज्य गठन के सपनों ने आकार लेना शुरू कर दिया है। उन्होंने कहा, डबल इंजन की सरकार की कोशिशों का ही नतीजा है कि राज्य में प्रत्येक घर में रसोई गैस का चूल्हा है सौभाग्य योजना से घर-घर गांव गांव रोशन हो रहे हैं और प्रत्येक घर में विद्युत कनेक्शन है, अटल आयुष्मान योजना से बने रिकार्ड 55 लाख आयुष्मान कार्ड से जनता के स्वास्थ्य की चिंता की जा रही है, पहाड़ के पानी का पहाड़ के काम नही आने की परिपाटी को उन्होंने घर नल से जल योजना से बदला, आल वेदर रोड़ राज्य के लिए वरदान साबित हो रही है।

श्री बद्री केदार धाम के कायाकल्पों की योजना, श्री केदारनाथ धाम में रुपए की मंजूरी से सात आठ घंटे की कठिन चढ़ाई 50 मिनट में बदलने वाली है, गंगोत्री यमुनोत्री धाम में भी विकास की कई योजनाओं को केंद्र सरकार ने मंजूरी दी है। इसी तरह मानस खंड मंदिर माला योजना, गांव गांव को जोड़ने और राज्य की दिल्ली से दूरी को कम करने से लेकर रोपवे एवं हवाई कनेक्टिविटी आदि ऐसी अनेकों योजनाओं ने राज्य के लोगों के जीवन में सकारात्मक बदलाव और खुशहाली लाने का काम किया है। साथ ही उम्मीद जताई कि पीएम के तीसरे कार्यकाल में उत्तराखंड विकसित राज्य की श्रेणी में शामिल हो जाएगा ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *