नर सिंह देवता की स्तुति में आंगनबाड़ी कार्यकत्री भूमिका शाह ने रचा लोकगीत

नर सिंह देवता की स्तुति में आंगनबाड़ी कार्यकत्री भूमिका शाह ने रचा लोकगीत

  • ध्याणटुड़ियों ने किया विशाल भंडारे का आयोजन
  • पारम्परिक वेशभूषा में तांदी नृत्य कर ध्याणटुडियों ने उठाया गीत का लुत्फ
  • नरसिंह देवता को चढ़ाया छत्र

नीरज उत्तराखंडी/मुन्धोल

जनपद देहरादून के तहसील त्यूनी अंतर्गत मुन्धोल गांव में गांव की विवाहित/अविवाहित कन्याओं (ध्याणटुड़ियों) ने नरसिंह देवता के मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा मूर्ति स्थापना का समारोह सम्पन्न होने के बाद भव्य भंडारे का भव्य आयोजन कर क्षेत्र की खुशहाली सुख समृद्धि की कामना की।

बतातें चले की गांव में नरसिंह देवता का पौराणिक मंदिर है। ग्रामीणों ने देवता के पुजारी भोपाल दत्त जोशी की पहल पर मंदिर में नरसिंह देवता की मूर्ति स्थापना का मन बनाया, जिसे महाराज ने सहर्ष स्वीकार किया। ग्रामीणों सर्व प्रथम देवता की मूर्ति प्रसिद्ध सिद्ध पीठ महासू मंदिर हनोल में देव स्नान के लिए ले गये। मूर्ति के शाही स्नान के बाद सभी भक्तगणों ने पैदल यात्रा कर मूर्ति को मुन्धोल गांव पहुंचाया। जहां कुल पुरोहित पांडे पंडितों द्वारा तीन दिन तक यक्ष हवन अनुष्ठान के बाद विधि-विधान के साथ मूर्ति को मंदिर में स्थापित किया।

प्राण प्रतिष्ठा का समारोह सम्पन्न होने के बाद भंडारे का आयोजन किया गया।

वहीं दूसरे दिन गांव की ध्याटुडियों ने विशाल भंडारे का आयोजन कर नर सिंह देवता को छत्र चढ़ाकर खुशहाली एवं सुख समृद्धि की कामना की।

सभी ध्याटुडियों ने पारम्परिक वेशभूषा में सज धज कर अपनी संस्कृति एवं आस्था को अक्षणु बनाये रखने का संदेश दिया।
बतातें चले की शिक्षक एवं सुप्रसिद्ध मूर्तिकार राकेश रावत ने नरसिंह देवता की मूर्ति का निर्माण किया है। ग्रामीणों ने उन्हें गांव बुलाकर उनका परम्परागत तरीके से भव्य स्वागत किया।
वही मंदिर में भंडारे का सिलसिला जारी है।

इस अवसर पर मुन्धोल की माटी में जन्मी आंगनवाड़ी कार्यकत्री भूमिका शाह ने नरसिंह देवता प्राण प्रतिष्ठा समारोह से प्रेरित हो कर कुल देवता नरसिंह की संस्स्तुति में गीत की रचना कर पूनम शाह चौसाल व सरोज सोनी नवाधार नेरूवा के सहयोग से स्वर देकर तांदी नृत्य में गा कर सब को आश्चर्य चकित कर दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *