मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना को लोन आधारित न कर सब्सिडी आधारित करने का मजबूत प्रस्ताव जल्द आएगा कैबिनेट में : रेखा आर्या

मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना को लोन आधारित न कर सब्सिडी आधारित करने का मजबूत प्रस्ताव जल्द आएगा कैबिनेट में : रेखा आर्या

  • एकल महिलाएं शुरू कर सकेंगी अपना स्वरोजगार
  • नंदा गौरा योजना के आवेदन फाइनल कर जल्द पूर्ण करी जाए औपचारिकताएं : रेखा आर्या

देहरादून/लोक संस्कृति

आज कैम्प कार्यालय कक्ष में महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने विभागीय अधिकारियों के साथ महिला सशक्तीकरण एवं बाल विकास विभाग की समीक्षा बैठक ली। बैठक में मंत्री ने पूर्व में दिये गये निर्देशों के पालन के संबंध में विभागीय अधिकारियों के साथ विस्तृत चर्चा की साथ ही आगामी योजनाओ के ऊपर भी चर्चा की।

विभागीय मंत्री ने बताया कि बैठक में मुख्यमंत्री एकल महिला स्वरोजगार योजना के अंतर्गत एकल महिलाओं को रोजगार शुरू करने के लिए दी जाने वाली सब्सिडी, नंदा गौरा योजना के महत्वपूर्ण बिंदु, मिनी आंगनबाड़ी केंद्रों के उच्चीकरण, खाली पदों के लिए विज्ञप्ति जारी करने सहित कई अन्य विषयों पर विस्तृत चर्चा हुई। जानकारी देते हुए बताया कि जल्द ही आगामी कैबिनेट में एकल महिलाओं को सशक्त करने और उन्हें स्वरोजगार से जोड़ने के लिए 75 प्रतिशत सब्सिडी के और अधिक मजबूत प्रस्ताव को अगली कैबिनेट में लाया जाएगा।

बताया कि एकल महिला में अविवाहित, निराश्रित, तलाकशुदा,एसिड अटैक या फिर परित्यक्ता महिलाएं शामिल हैं।इन समस्त महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने की घोषणा मुख्यमंत्री धामी ने की थी।ऐसे में सभी महिलाओं को 75 प्रतिशत की सब्सिडी दी जाएगी जिसके लिए विभाग ने पूर्ण तैयारी कर ली है।

मंत्री रेखा आर्य ने कहा कि अधिकारियों को यह भी निर्देशित किया गया है कि नंदा गौरा योजना के आवेदन जल्द से जल्द फाइनल कर लिए जाएं, ताकि इस योजना से संबंधित कोई भी बालिका लाभ से वँचित न रहे और बालिकाओं को योजना का लाभ मिल सके!

इस अवसर पर सचिव, महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास विभाग, हरिचंद सेमवाल , निदेशक प्रशान्त आर्य , उपनिदेशक विक्रम सिंह तथा अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *